रोटी को डाइजेस्ट होने में चावल की तुलना में ज्यादा समय लगता है। पेट देर तक भरा रहता है ओवरईटिंग से बचाव होता है।

रोटी में चावल से ज्यादा फाइबर्स होते हैं डाइजेस्टिव ट्रैक्ट को सफाई और कॉन्स्टिपेशन जैसी कई प्रॉब्लम से बचा होता है।

रोटी खाने पर चावल की तुलना में ब्लड शुगर लेवल तेजी से बढ़ता है। इससे डायबिटीज जैसी बीमारियों से बचाव होता है।

रोटी में मौजूद कार्बोहाइड्रेट के डाइजेशन के लिए बॉडी ज्यादा एनर्जी का इस्तेमाल करती है। मोटापे की संभावना कम हो जाती है।

चावल में सब्जियां डालकर पकाएं या सब्जियों के साथ खाएं। इससे चावल की क्वांटिटी कम होगी। फाइबर और विटामिन मिलेंगे।

By Admin