जनसंपर्क संचार की एक प्रक्रिया है, जिसमे जनता से संचार स्थापित किया जाता है। जनसंपर्क द्वारा जनता से संपर्क स्थापित करके लक्षित उद्देश्यों को पूरा किया जाता है। ये उद्देश्य निजी हित के लिए भी हो सकते हैं और सामाजिक हिट की लिए भी। जनसंपर्क द्वारा स्थापित किया गया जनता से संपर्क लक्षित कार्यों के सही दिशा में अग्रसर होने में सहायक होता है, इसलिए सभी संस्थान चाहे वो मीडिया हाउस हो या राजनीतिक पार्टियों के संगठन या दल हो, सभी जनसंपर्क अधिकारी रखते हैं। जनसंपर्क अधिकारी वह व्यक्ति होता है, जो समाज, संगठन, क्षेत्र आदि में चल रही हवाओ, मुद्दों को सही से परख कर और लेखा जोखा कर के अपने संबंधित विभाग को सूचनाएं और संभावनाओं के बारे में सूचित करता है। एक जनसंपर्क अधिकारी में कुछ गुणों का होना आवश्यक है और उसके कुछ कार्य भी हैं, जिन्हें निम्नलिखित रूप से समझा जा सकता है।

Related post.. जनसंपर्क की अवधारणा और अर्थ

जनसंपर्क अधिकारी के गुण

  1. जनसंपर्क अधिकारी के पैरों में चक्कर, बोली में शक्कर, दिल मे आग, जुबान में बर्फ होनी चाहिए।
  2. स्पष्टता:- जनसंपर्क अधिकारी के अपने क्या उद्देश्य हैं यह स्पष्ट होना चाहिए। उसे क्या करना है या कहें उसके अधिकार की बाउंड्री कहाँ तक है पता होना चाहिए ताकि गलती करने की संभावना कम हो सके।
  3. दृष्टिकोण:- जनसंपर्क अधिकारी की दूर दृष्टि होनी चाहिए। उसे भविष्य में आने वाली चुनौतियों या समस्याओं के लिए पहले से तैयार रहना चाहिए और आगे क्या कर सकते हैं, क्या संभावनाएं हो सकती है उनका पता होना चाहिए।
  4. निर्णय क्षमता:- जब आप जनसंपर्क कर रहे हों तो उसके अंदर आपकी त्वरित निर्णय लेने की क्षमता होनी चाहिए ताकि किसी स्थित में अगर कोई फैसला लेना पड़ जाए तो घबराहट न हो और जल्दी फैसला ले सके।
  5. वाकपटुता:- जनसंपर्क अधिकारी बोलने में माहिर होना चाहिए ताकि किसी भी स्थित में वह बिना किसी हकलाहट के एक दम उस स्थित में बोल सके।
  6. सहयोगी स्वभाव:- जनसंपर्क अधिकारी में सभी के साथ मिल जुल कर काम करना चाहिए और सभी के साथ अच्छा व्यवहार बनाकर रखना चाहिए न जाने कब आपके काम आजाए।
  7. जनसंपर्क अधिकारी लेखन कौशल में माहिर होना चाहिए।
  8. जनसंपर्क अधिकारी का सामाजिक दायरा विस्तृत होना चाहिए, उसके संपर्क अधिक होने चाहिए।उसके तालमेल अधिक होने चाहिए।
  9. जनसंपर्क अधिकारी में समय निष्ठता होनी चाहिए, एक अच्छा जनसंपर्क अधिकारी तभी बना जा सकता है जब वह सच के साथ हो। अगर वह सच के साथ है तभी उस पर लोगों द्वारा विश्वास किया जा सकता है।
  10. तकनीक में पारंगत होना चाहिए।
  11. चारित्रिक दृढता होनी चाहिए।

जनसंपर्क अधिकारी के कार्य/उपयोगिता

  • जन आकांक्षाओं को जानना
  • अनुकूल जनमत तैयार करना
  • जनसंपर्क अधिकारी का कार्य होता है कि वह संस्थान की उपलब्धियों , कार्यों को बताए ताकि लोग उनका विश्वास कर सकें।
  • जनसंपर्क अधिकारी लोगों के बीच विश्वास पैदा करने का काम करते हैं और लोगों के मध्य संस्थान के प्रति फैली अफवाहों और संशय को दूर करने का भी कार्य करते हैं।
  • जनसंपर्क अधिकारी जनता को संस्थान या संगठन से जोड़ने और विभिन्न पहलुओं के मध्य कड़ी का काम करते है।
  • जनसम्पर्क अधिकारी का कार्य मीडिया से जुड़े लोगों की सूची बनाना और उनसे संपर्क स्थापित करना है।
  • कार्यक्रमो का आयोजन
  • अपने संस्थान, कंपनी से संबंधित क्या जानकारी प्रचार के लिए या प्रकाशन के लिए जाएगी उसकी रूप रेखा का क्रियान्वयन करने का काम करता है।

जनसम्पर्क अधिकारी का महत्व

भारत के सामाजिक एवं आर्थिक विकास में जनसम्पर्क एक अत्यंत महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। देखते ही देखते जनसम्पर्क पहले की तुलना में एक प्रतिष्ठित पेशा बन गया है और यह कैरियर क्षेत्र भी बनकर उभर रहा है। जनसम्पर्क एक बहुत ही रचनात्मक कार्य है, ये सृजन-सम्पर्क की आत्मा हैं ।

महत्व

  1. लक्षित समूह, संस्थान आदि के बारे में पहले से ही सूचनाएं एकत्र कर के रखना।
  2. किसी संबंधित वातावरण की स्थित में उस जनसम्पर्क की क्या स्थित है।
  3. मीडिया रणनीति बनाते हुए किस माध्यम का प्रयोग हो।
  4. जिस फील्ड में काम कर रहे हैं उसकी छोटी से लेकर छोटी तक कि समस्याओं और बड़ी से बड़ी समस्याओं को परिभाषित करने की क्षमता।
  5. किसी क्षेत्र में व्यक्तिगत समस्याएं क्या है उसको जान लेना।
  6. रिसर्च के माध्यम से आकड़ो में विश्ववसनीयता लाने का कार्य करना।
  7. योजना बनाना
  8. बजट निर्धारित करना
  9. मोनिटरिंग करना।

आज के आधुनिक युग मे जनसम्पर्क का महत्व बहुत बढ़ गया है, किसी भी क्षेत्र में देखें तो जनसम्पर्क विभाग या अधिकारी अवश्य मिल जाएगा। जैसे जैसे आज समाज विकसित होता जा रहा है वैसे वैसे इस क्षेत्र में पेशा भी बढता जा रहा है। आज प्रत्येक व्यक्ति को प्रत्येक विषय के संबंध में विस्तृत जानकारी चाहिए और इसी के साथ वे संबंधित क्षेत्र से तुलना भी करना चाहते है। ऐसे में एक बात स्पष्ट है कि आज यह मीडिया के क्षेत्र में ही न सिमट कर सभी क्षेत्रों में फैल चुका है, जो कि इसकी महत्वता को दर्शाता है।

By Admin

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.