Category: story time

जॉन एलिया(JOHN ELIA): मेरे कमरे का क्या बयां करू, यहाँ खून थूका गया है शरारत में

WRITTEN BY VISHEK GOUR हज़रत जौन एलिया कल ज़नाब जौन(JOHN ELIA) जी की पुण्यतिथि थीं और आज आलम यह है कि जिंदगी मौत मांग रही है. दरख़्त पर कहीं बैठकर.…

आचार्य चाणक्य के लिए एक तोला मांस, इतना महंगा क्यों?

एक बार सम्राट बिंदुसार ने अपने राज दरबार में पूछा:- देश की खाद्य समस्या को सुलझाने के लिए सबसे सस्ती वस्तु क्या है? मंत्री परिषद तथा अन्य सदस्य सोच में…

जीवन ka सार

अंतड़ियों में जकड़ है, पर मन में खटास है,, एक पल की जिंदगी में, न घर है और न घनश्याम है,, जीने की चाहत है, पर किराए की किल्लत है,,…

मानव और प्रकृति

 छा चुका है घोर अंधेरा, मानवता के दरवाजे पर,, रो रही है पृथ्वी बेचारी, अपने कर्म के विधानों पर,, खो दिया है उसने प्रेम सागर, आज, वर्तमान के लालचियों पर,,…

फेसबुक और लॉक प्रोफाइल

फेसबुक के लॉक प्रोफाइल की दासता जिनके प्रोफ़ाइल पर ताला पड़ा हो, उनसे कोई संवाद कैसे कर सकता है? वे संवाद में शामिल भी किस मुँह से होना चाहेंगे? ताला-जड़ित…

प्यार..जो समाज को अपना बना ले

“रूपा मैं तुम्हारे मरते दम तक तुमसे प्यार करता रहुंगा,और तुम्हारे साथ ही अपने जीवन का अंत करूँगा”। ये शब्द आठ साल के उस लडके द्वारा कहना,जिसको अभी प्यार की…

प्यार का आँचल

शाम का समय कुछ समय मैनें सोचा की चलो पार्क में ही बैठ लिया जाए पर उसको कहा मेरा खाली बैठना मंजूर था और खास कर शांती से। उसने भी…

Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.