PRESIDENT ELECTION 2022

मुख्य बातें

  • राष्ट्रपति चुनाव के लिए नामांकन पत्र दाखिल करने की तारीख 15 जून से शुरू होगी।
  • तीस जून को नामांकन पत्रों की जांच होगी।
  • नामांकन पत्र वापस लेने की आखिरी तारीख 2 जुलाई होगी।

राष्ट्रपति चुनाव 2022 के लिए तारीखों का एलान हो गया है। 18 जुलाई को मतदान होगा और जरूरी हुआ तो 21 जुलाई को मतगणना की जाएगी। निर्वाचन आयोग ने गुरूवार को इसका एलान किया। राष्ट्रपति चुनाव के लिए अधिसूचना 15 जून को जारी होगी, नामांकन की अंतिम तारीख 29 जून है जबकि 2 जुलाई तक नाम वापस लिए जा सकेंगे। निर्वाचन आयोग के चीफ इलेक्शन कमीशन राजीव कुमार ने कहा कि नए राष्ट्रपति का शपथ ग्रहण समारोह 25 जुलाई को होगा। राष्ट्रपति चुनाव के नॉमिनेशन के लिए 50 प्रस्तावक जरूरी होंगे। और इसी के साथ वोट देने के लिए सिर्फ आयोग द्वारा दिए गये पेन का ही इस्तेमाल करना होगा। 

नामांकन की अंतिम तारीख29 जून 2022
नाम वापस लेने की अंतिम तारीख02 जुलाई 2022
मतदान की तारीख18 जुलाई 2022
मतगणना21 जुलाई 2022
APNARAN.COM

राष्ट्रपति का यह चुनाव सरकार चला रहे एनडीए गठबंधन, विपक्ष में बैठे यूपीए गठबंधन और अन्य विपक्षी दलों के 2024 के लोकसभा चुनाव के लिए बनने वाले सियासी समीकरणों को भी साफ करेगा।

कैसे होता है राष्ट्रपति का चुनाव?

भारत के राष्ट्रपति का चुनाव लोकसभा और राज्यसभा के सांसदों और सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के विधायकों के द्वारा किया जाता है। हर सांसद के वोट की वैल्यू 700 है जबकि विधायकों के वोटों की वैल्यू हर राज्य में अलग-अलग होती है। निर्वाचन आयोग ने बताया कि राष्ट्रपति के चुनाव में 776 सांसद और 4033 विधायक मतदान करेंगे। इस तरह इस चुनाव में कुल 4,809 मतदाता हैं। आयोग ने बताया कि सांसदों के वोट की कुल वैल्यू 5,43,200 है जबकि विधायकों के वोट की वैल्यू 5,43,231 है और यह कुल मिलाकर 10,86,431 होती है। 

Advertisements

राष्ट्रपति चुनाव 2022 से जुड़ी मुख्य बातें

  • राष्ट्रपति चुनाव के लिए संसद, विधानसभाओं के परिसर में होगा मतदान, राज्यसभा के महासचिव निर्वाचन अधिकारी होंगे।
  • मतदाताओं की कुल संख्या 4,809 होगी, जिसमें 776 सांसद और 4,033 विधायक शामिल हैं।
  • राष्ट्रपति चुनाव के लिए किसी भी राजनीतिक दल को व्हिप जारी करने की अनुमति नहीं होगी।
  • राष्ट्रपति चुनाव के लिए मतदान और मतगणना के दौरान कोविड से संबंधित सभी प्रोटोकॉल का पालन किया जाएगा।
  • राष्ट्रपति चुनाव के लिए नामांकन पत्र दाखिल करने की तारीख 15 जून से शुरू होगी तथा इसके लिये अंतिम तिथि 29 जून होगी।
  • तीस जून को नामांकन पत्रों की जांच होगी, नामांकन पत्र वापस लेने की अंतिम तिथि दो जुलाई होगी।
  • राष्ट्रपति चुनाव के लिए मतदान 18 जुलाई को, मतगणना 21 जुलाई को होगी।

कुछ नियम

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का कार्यकाल 24 जुलाई को समाप्त हो रहा है और अगले राष्ट्रपति का चुनाव इससे पहले ही होना है। राष्ट्रपति का चुनाव संसद के दोनों सदनों के निर्वाचित सदस्यों के चुनावी कॉलेज के सदस्यों और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली और केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी समेत सभी राज्यों की विधानसभाओं के निर्वाचित सदस्यों द्वारा किया जाता है।

चुनावी कॉलेज में राज्यसभा या लोकसभा या विधानसभाओं के नामांकित सदस्य मतदान के योग्य नहीं होते हैं और वे चुनाव में भाग नहीं लेते हैं। इसी तरह विधान परिषदों के नामित सदस्य भी राष्ट्रपति चुनाव में मतदाताओं के तौर पर शामिल नहीं होते हैं। 2017 में राष्ट्रपति चुनाव 17 जुलाई को हुआ था और मतगणना 20 जुलाई को हुई थी।

MORE…

By Admin

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.