आंखों का फड़कना

आंखों को पहले ही हो जाता है पता?

दोस्तों आज मैं बात करने जा रहा हूं कि आंखों का फड़कना शुभ होता है या अशुभ। दोस्तों अक्सर हमारी आंखें एक लय में फड़कती रहती हैं पर यही आंखे जब तेज फड़कने लगती हैं और हम यह सोचते लगते हैं कि कौन सी आंख का फड़कना हमारे लिए शुभ है ,धन दायक है और लाभदायक है और कौन सी आंख का फड़कना हमारे लिए अशुभ है या कुछ बुरा होने का संकेत लगने लगता है। जिसके लिए हम परेशान रहते हैं।

दोस्तों क्या आप जानते है कि स्त्री और पुरुष दोनों की आंख ही नहीं बल्कि पूरे अंग फड़कते है लेकिन आज  मैं आपको  सिर्फ आंखों के फड़कने के बारे में जानकारी दूंगा।

दोस्तों जब आपकी आंख फड़कती है तो इसका प्रभाव स्त्री और पुरुष दोनों में अलग-अलग होता है तो ऐसे में प्रश्न उठता है कि स्त्री की कौन सी आँख फड़कती तो उसके लिए अच्छी होती है और पुरुष की कौन सी फड़कती है तो उसके लिए शुभ होता है।

Eye

तो दोस्तों आज हम इसी पर चर्चा करने वाले हैं तो देखिए रामायण में भी इसका उल्लेख किया गया है कि जिस समय सीता हरण हुआ उस समय श्री राम जी बोल रहे है लक्ष्मण जी से की लक्ष्मण बामांग मेरा फड़क रहा है यानी मेरी बाई आंख जो है फड़क रही है।

Advertisements

तो ये सिर्फ हमारी और आपकी बात नहीं है यह रामायण के समय की बात है। जब हम अपने वेदों पुराणों के अनुसार देखते हैं, तो उसमें भी यह उल्लेखित किया गया है कि जब सीता हरण हुआ तो उस समय संकेत के रूप में श्री राम जी की बाई आंख फड़कने लगे और इस बात की चर्चा उन्होंने लक्ष्मण जी से भी की है। अगर आप भी रामायण पढ़ते हैं तो इस चीज को  देख सकते हैं तो दोस्तों यह बात जाहिर है कि पुरुष कि अगर बाई आंख फड़क रही है तो उसके लिए शुभ नहीं माना जाता है और स्त्री की दाहिनी आंख फड़क रही है तो वह उसके लिए अच्छा नहीं माना जाता है।

स्त्री कि अगर बाई आंख फड़क रही है तो ऐसा माना जाता है कि, धन दायक है, शुभता का सूचक है। वहीं पर पुरुष की अगर दाएं आंख फड़क रही है तो उसके लिए लाभदायक माना जाता है ऐसा माना जाता है कि कहीं से धन आने की सूचना मिलेगी, या कहीं से धन आएगा, या कहीं से कोई शुभ समाचार आएगा, इससे बड़ी बात यह है कि अगर आपकी आंखें जो है,सिर्फ 24 घंटे 48 घंटे तक फड़के तो ऐसी कोई सोचने वाली बात नहीं है और ना तो घबराने वाली बात है पर अगर ये आंखें 48 घंटे से ऊपर फड़फड़ा रही हैं और आपको लग रहा है कि काफी टाइम हो गया आंखें जो है वह फड़कती जा रही हैं, तो एक बार अपने डॉक्टर को जरूर दिखा ले।

हर अंग का अलग-अलग फड़कने का अर्थ होता है तो दोस्तों यह जो आंखें हैं अगर वह 48 घंटे से ऊपर हो जाते हैं कहीं फड़क रही है तब तो आपको इनकी सुविधा और असुविधा के बारे में विचार करने की जरूरत है नहीं तो अगर यह आपकी आंखें कभी कबार फड़क जाती है तो उसमें ऐसा ना कोई शुभ होने का संकेत है ना कोई अशुभ होने का संकेत है।

तो दोस्तों अगर आप की भी आंखें 48 घंटे से ऊपर से लगातार फड़क रही और मंथन में लगे हैं चिंतन में लगे हैं कि आखिर क्या होने वाला है ? तो ऐसी कोई भी सोचने वाली बात नहीं है।

By Admin

One thought on “Your eyes already give a hint of auspicious and inauspicious( In Hindi )”

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.