कल भी सूरज निकलेगा कल भी पंछी गाएंगे

कल भी सूरज निकलेगाकल भी पंछी गाएंगेसब तुझको दिखाई देंगेपर हम न नज़र आएंगे। ………….. 1982 में आई फ़िल्म ‘प्रेमरोग’ का ये गीत जिसे संन्तोष आंनद जी ने लिखा था, लता दीदी ने स्वरबद्ध किया उसी का अंश, मैं समर्पित करता हूँ स्वर साम्राज्ञी को उनके अंतिम विदाई पर।।। बाकी सभी की तरह मैं अश्रुपूरित …

कल भी सूरज निकलेगा कल भी पंछी गाएंगे Read More »