Shyam sharan Negi: India’s first voter dies in Himachal Pradesh

Shyam sharan Negi ने, 2 नवंबर को पोस्टल बैलेट के द्वारा अपने अधिकारों का उपयोग करते हुए हिमाचल प्रदेश विधानसभा के लिए किया था वोट। हिमाचल प्रदेश में आगामी 12 नवंबर को है विधानसभा चुनाव।

अपने मत का प्रयोग करें.... मतदान करने जरूर जाएं.....

श्याम शरन नेगी, भारत के पहले वोटर की, हिमांचल प्रदेश में 106 वर्ष की उम्र में शनिवार, नवंबर 5, 2022 को अपने स्थाई निवास किन्नौर जिले में अंतिम सांस ली। उनका अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ पूरा किया गया। 2014 के इलेक्शन के बाद नेगी एक आइकन के रूप में सामने आए।

SHYAM SHARAN NEGI
SHYAM SHARAN NEGI ( PIC:- NEWS ON AIR)

ऑफिशियल रिकॉर्ड्स को देखें तो श्याम शरन नेगी 1952 के जनरल इलेक्शन के पहले वोटर थे। नेगी का जन्म जुलाई 1,1917 को हुआ था और वे एक रिटायर्ड स्कूल अध्यापक थे। इलेक्शन कमिशन के कहा कि, 3 नवंबर 2022 को, नेगी ने अपने अधिकार का प्रयोग करते हुए हिमांचल प्रदेश के विधानसभा चुनाव में पोस्टल बैलेट या आप डाक मतपत्र से वोट दिया था।

चीफ़ इलेक्शन कमीशन राजीव कुमार ने नेगी को डेमोक्रेसी में आस्था रखने वाला इंसान बताया और इसी के साथ उन्हें 'हिमांचल प्राइड' भी कहा। 

नेगी कभी भी अपने मत का प्रयोग करने से पीछे नहीं रहे। उन्होंने अभी तक कुल 34 बार अपने मत का प्रयोग किया जिसमे चौतीसवीं बार वोट देते हुए पोस्टल बैलेट का इस्तेमाल किया। ( यह प्रक्रिया 12डी फॉर्म को फिल करने के बाद की जाती है। जब कोई व्यक्ति किसी कारण से अपने वोटिंग बूथ पर जाने में असमर्थ होता है तब इसका प्रयोग किया जाता है। ज्यादातर बॉर्डर पर सेना के जवान, अन्य जगह काम कर रहे सरकारी कर्मचारी इसका प्रयोग कर के अपने ‘राइट टू वोट’ का प्रयोग करते हैं।

  • राजीव कुमार(CEC) ने नेगी के बारे में कहा की उन्होंने 70 से अधिक वर्षों तक लगातार अपने मताधिकारों का प्रयोग किया और यहां तक कि हमें छोड़ने से पहले 2 नवंबर को डाक मतपत्र के माध्यम से अपने कर्तव्य का पालन किया।
  • उन्होंने(राजीव कुमार) आगे कहा कि, देश के लिए अपने मताधिकार का पूरे दिल से इस्तेमाल करने और देश के लोकतंत्र की नींव को मजबूत करने के लिए इस संबंध में अपने कर्तव्य के प्रति उनकी प्रतिबद्धता को युवाओं के लिए एक उदाहरण के रूप में स्थापित करना चाहिए। यही उनके लिए एक उचित श्रद्धांजलि होगी।

Pledge to Vote Compain 2014

2014 के संसदीय चुनावों के दौरान अपने #pledgetovote अभियान के लिए गूगल द्वारा नेगी का एक वीडियो बनाने के बाद, नेगी विश्व पटल पर छा गए। गूगल वीडियो के वायरल होने के बाद, नेगी इलेक्शन आइकन से जुड़ गए और एक घरेलू नाम बन गए, क्योंकि उन्हें उस वीडियो में 25 अक्टूबर 1951 की कहानी सुनाते हुए दिखाया गया था। जब उन्होंने भरी बर्फबारी के बावजूद मतदान केंद्र की तरफ चलने के लिए अपना कदम बाहर रखा था।

Advertisements

प्रधानमंत्री मोदी ने नेगी के बारे में क्या कहा

हिमाचल प्रदेश के सुंदरनगर के जवाहर पार्क में विजय संकल्प रैली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के पहले मतदाता श्याम सरण नेगी के निधन पर शोक जताया।  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि 106 वर्षीय श्याम सरण नेगी(SHYAM SHARAN NEGI) ने 30 से ज्यादा बार मतदान किया था। दुनिया को अलविदा कहने से पहले भी उन्होंने वोट डालकर अपना कर्तव्य निभाया। श्याम सरण नेगी ने दो दिन पहले ही अपना कर्तव्य निभाया और पोस्टल बैलेट से मतदान किया। हर देशवासी, युवा और हर नागरिक  सदा सर्वदा उनसे प्रेरित होंगे। पीएम मोदी ने कहा कि भावुक मन से श्याम सरण नेगी को श्रद्धाजंलि देता हूं और परिजनों के प्रति अपनी संवेदनाएं प्रकट करता हूं।

संवेदनाएं

REFERENCE

READ MORE

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.
%d bloggers like this: