Tag: शिक्षा

भारत में टीवी पत्रकारिता का वर्तमान परिदृश्य पर लेख

पत्रकारिता, जिसे लोकतंत्र का चौथा स्तंभ कहा जाता है, आखिर ऐसा क्या हुआ है कि उसके परिदृश्य पर ही उंगलियां उठने लगी? पत्रकारिता का तो काम है कि लोगों को…

हिंदी सिनेमा और साहित्य के संबंध को बताइए

हिंदी सिनेमा और साहित्य को समझने से पहले यह समझना अति आवश्यक है कि, ये दोनों ही कला विधाएं हैं जो अपने माध्यम से समाज को प्रभावित या समाज के…

आचार्य चाणक्य के लिए एक तोला मांस, इतना महंगा क्यों?

एक बार सम्राट बिंदुसार ने अपने राज दरबार में पूछा:- देश की खाद्य समस्या को सुलझाने के लिए सबसे सस्ती वस्तु क्या है? मंत्री परिषद तथा अन्य सदस्य सोच में…

Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.