Tag: #पत्रकारिता

Sanchar ki paribhasha, Sanchar ki meaning aur Sanchar ke prakar

संचार(Sanchar) संचार एक ऐसी प्रक्रिया है, जो कि सृष्टि में जीवन के प्रारंभ के साथ-साथ निरंतर चलती आ रही है। कहने का तात्पर्य है कि, धरती पर जबसे जीवन का…

माध्यमगत विज्ञापन की विशेषता व अंतर को बताइए?

माध्यम के आधार पर विज्ञापनों को चार भागों में बांटा गया है। मुद्रित विज्ञापन, इलेक्ट्रॉनिक विज्ञापन, इंटरनेट विज्ञापन, अन्य माध्यम विज्ञापन। अलग-अलग माध्यमों पर प्रसारित होने वाले विज्ञापनों की भिन्न-भिन्न…

इवेंट आधारित मीडिया सामग्री और उसके विविध रूप

इवेंट को हिंदी में आयोजन कहते हैं ,यह आयोजन छोटा-से-छोटा व बड़ा-से-बड़ा हो सकता है। इसके अंतर्गत बर्थडे पार्टी , एनुअल सेलिब्रेशन, फैशन समारोह, शिक्षा समारोह, राजनीतिक समारोह या रैलियां…

Jansanchar madhyamo ki janmat nirman me bhoomika

प्रत्येक समाज के सामाजिक जीवन में जनमत अर्थात जनता के मत का महत्वपूर्ण स्थान होता है। जब भी लोगों के ‘आचार’, ‘व्यवहार’, और रवैये में परिवर्तन की बात आती है…

पर्यावरण के विविध पक्ष और मीडिया

पर्यावरण शब्द का निर्माण दो शब्दों से मिलकर हुआ है। परि और आवरण, “परि” जो हमारे चारों ओर है “आवरण” जो हमें चारों ओर से घेरे हुए है,अर्थात पर्यावरण का…

संपादकीय लेखन और उनका आयोजन

‘संपादकीय’ का सामान्य अर्थ है समाचार पत्र के संपादक के अपने विचार, जिसमें संपादक प्रत्येक दिन ज्वलंत विषयों पर अपने विचार व्यक्त करता है। संपादकीय लेख समाचार पत्रों की नीति,…

History of journalism in India | भारत में पत्रकारिता का इतिहास

आज भारत में पत्रकारिता को शुरू हुए दो शताब्दियों से भी ज्यादा का समय हो रहा है। पर आपको क्या पता है कि आखिर किसने भारत मे पत्रकारिता का सुभारम्भ…

Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.