chittaudh ki story

चित्तौड़ की कहानी

चित्तौड़ की कहानी……प्रिय द्विवेदी जिस माटी पर चली पद्मिनी महारानी,हे चित्तौड़गढ़ चलो भ्रमण तुम्हारा करते है।नम नयनों से नमन तुम्हारा करते है,ये अश्रु अनुसरण तुम्हारा करते है।। हे भारत के दुर्गों के मुखिया,स्वर्ग सी धरा के सूरेद्र तुम्हीं हो।कोटि कोटि नारों मे नरेंद्र तुम्हीं हो,राजपूती चेतना का केंद्र तुम्हीं हो।। चित्तौड़ दुर्ग की गगन चूमती …

चित्तौड़ की कहानी Read More »