a man sitting on front of the computer while editing video

आज के वर्तमान समय में, जो वीडियो संपादन लोकप्रिय माध्यम के रूप में उभर कर सामने आया है, शायद ही 20 वर्ष पहले इसकी कल्पना की गई हो कि, यह इतना सरल हो सकता है! इसका मुख्य कारण था कि, न तो उस समय इतनी तकनीक विकसित थी की उसका प्रयोग कर वीडियो संपादन किया जाए और न ही इस संदर्भ में ज्यादा जानकारी.

ऐसे में वीडियो संपादन के शुरुआती दौर को देखा जाए तो इस क्षेत्र को केवल पेशवर वीडियो संपादक के लिए ही उपयोगी माना जाता था. इसका मुख्य कारण यही था की उस समय वर्तमान की तरह तकनीक विकसित नहीं थी और वीडियो संपादन करना ‘सीधे उंगली से घी निकालने‘ जैसा था.

आज के समय में जिस प्रकार से सॉफ्टवेयर की उपलब्धता बाजार या कहें इंटरनेट पर आसानी से उपलब्ध हो चुकी है. उसे देखकर बस यही कहा जा सकता है कि हर कोई व्यक्ति जो वीडियो संपादन में थोड़ी भी रुचि रखता है, वह इनके माध्यम से विडियो संपादित करके उसे लोगों के समक्ष रख सकता है. अब इसमें कोई शक नहीं है कि कुछ सरल वीडियो संपादक उपकरण या कहें सॉफ्टवेयर का प्रयोग कर, वीडियो संपादन को आसानी से पूर्ण किया जा सकता है और लक्षित लक्ष्य को भेदा जा सकता है.

वीडियो संपादन करने के लिए आपके पास कुछ उपकरण का होना आवश्यक है जो कि निम्नलिखित हैं……..

1 . कम्प्यूटर:

वर्तमान समय में वीडियो संपादन करने के लिए बेशक कंप्यूटर या कहें पीसी को तवज्जो दिया जाता है पर वीडियो एडिटिंग के लिए कई मोबाइल ऐप आ चुके हैं जिससे आसानी से वीडियो का संपादन किया जा सकता है….. लेकिन देखा जाए तो इसके कई हानी भी हैं जैसे की इसमें ज्यादा बड़ी वीडियो को संपादित करना जोखिम भरा काम है. ऐसे में ज्यादातर वीडियो संपादक वीडियो एडिटिंग के लिए बड़े पीसी का प्रयोग करते हैं क्योंकि इसकी स्क्रीन मोबाइल स्क्रीन से बड़ी और एडिटिंग में सहूलियत प्रदान करती है..

Advertisements

वीडियो एडिटिंग कंप्यूटर पर, एडिट करने का दूसरा कारण यह है कि कंप्यूटर में ज्यादा हार्ड ड्राइव और वीडियो सॉप्टवेयर को प्रोसेस करने वाले सॉफ्टवेयर या कोर मौजूद होते हैं या फिर उन्हें एसेंबल करके प्रयोग में लाया जा सकता है, जबकि मोबाईल फोन में ऐसा किसी भी कीमत पर वर्तमान समय में नही किया जा सकता है. परंतु फिर भी आज हर व्यक्ति जिसके पास आईफोन, आईपैड, एंड्राए़ड फोन, टैबलेट उपलब्ध है मौजूद स़फ्टवेयर की मदद से अपने वीडियो को एडित कर सकता है.

2. वीडियो रॉ के लिए कैमरा और मेमोरी

वीडियो को संपादित करने के लिए पहले तो आपको, वीडियो के रॉ फाइल को कंप्यूटर या फोन में डालना होगा. ऐसे में वीडियो रॉ फाइल प्राप्त कैसे करेंगे और वह कैसे आएगा इसको जानना जरूरी है? इसका जवाब यह है कि आप वीडियो कैप्चर करने के लिए अपने मोबाइल, लैपटॉप, कैमकॉर्डर या किसी अन्य रिकॉर्ड करने वाले उपकरण का उपयोग कर सकते हैं. इन प्रक्रियाओं को पूरा करते हुए ध्यान रखना चाहिए की वीडियो एक आदर्श रूप में शूट हो और शूट करने वाले कैमरामैन को यह पता हो कि उसके उपकरण की हार्डडिस्क/एसएसडी/ डीवीडी की कैपसिटी क्या है और वह उससे कितने ड्यूरेशन का वीडियो कैद कर सकता है. साथ ही कैमरे के पिक्सल क्वालिटी को भी वीडियो के हेसाब से रेकी कर लेनी चाहिए.

3. वीडियो संपादन सॉफ्टवेयर

आज वीडियो संपादन का क्रेज इस प्रकार से बड़ गया है कि लगभग प्रत्येक कंप्यूटर या कहें लैपटॉप बनाने वाली कंपनियों ने मुफ्त वीडियो संपादन सॉफ्टवेयर उपलब्ध करवाना शुरू कर दिया है. यदि आप विंडोज का प्रयोग करते हैं तो आप विंडोज लाइव मूवी मेकर का उपयोग कर सकते हैं. लेकिन आप अगर मैक उपयोक्ता हैं तो आप आईमूवी सॉफ्टवेयर प्रयोग कर सकते हैं. याद रखें की इन सॉफ्टवेयर के टर्म्स एण्ड कंडीशन बदलते रहते हैं ऐसे में आपको इनके सुविधाओं का लाभ उठाने के लिए कुछ व्यय भी करना पड़ सकता है. वैसे देखा जाए तो कंप्यूटर में वीडियो एडिटिंग के लिए एडॉब प्रीमियम प्रो और एफसीपी का अधिक प्रयोग होता है वहीं मोबाइल में एडिटिंग के लिए फिल्मोरा, किनमास्टर, जैसे आदि ऐप्स का प्रयोग क्या जाता है.

अगर आप एडिटिंग की शुरुआत कर रहे हैं तो आप फिल्मोरा का प्रयोग फोन पर कर सकते हैं, वैसे अगर देखा जाए तो किनमास्टर का प्रयोग कर आप एक अच्छा वीडियो एडिट कर सकते हैं.. क्योंकि इसे कई पेशवर एडॉब प्रीमियम का प्रतिस्थापन सॉफ्टवेयर मानते हैं.. पर फिर भी इन दोनों में कई अंतर हैं जो कि इन्हे एक दूसरे से अलग बनाते हैं. यह अंतर आपको इन ऐप्स और सॉफ्टवेयर को प्रयाग करने के बाद ही समझ आ सकता है.

और पढ़ें……


By Admin

Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.