महिला क्रिकेट के इतिहास में सबसे अधिक रन बनाने वाली दिग्गज भारतीय खिलाड़ी कप्तान मिताली राज ने इंटरनेशनल क्रिकेट के हर फार्मेट से संन्यास की घोषणा कर दी है| मिताली ने 23 वर्षों तक क्रिकेट खेला| बुधवार को सोशल मीडिया पर संदेश जारी कर संन्यास की घोषणा की| उन्होंने ट्वीट में लिखा कि इतने सालों तक आप सभी के प्यार और समर्थन के लिए बहुत शुक्रिया| अब मैं अपने जीवन के दूसरी पारी की तरफ ध्यान दूंगी और  इसके लिए भी आप सभी के प्यार और समर्थन की जरूरत होगी|

हालांकि, उन्होंने यह जाहिर नहीं किया है कि यह दूसरी पारी क्या होगी। श्रीलंका के खिलाफ जून में होने वाली टी-20 और वनडे सीरीज के लिए हरमनप्रीत कौर को कप्तान बनाया गया है।

23 साल के सुहाने सफर के बाद मिताली राज ने क्रिकेट से लिया सन्यास

मिताली राज ने टीम इंडिया के लिए 26 जून 1999 को डेब्यू किया था। वो पिछले 23 साल से भारतीय टीम के लिए खेल रही थी। 39 साल की मिताली ने टीम इंडिया के लिए 10,000 से ज्यादा रन बनाए हैं। उन्होंने साल 2000 में भारत के लिए पहला विश्व कप खेला था। इसके बाद 2005, 2009, 2013, 2017 और 2022 में भी वो टीम इंडिया के लिए मैदान पर खेलने उतरीं। सबसे ज्यादा विश्व कप खेलने के मामले में मिताली ने न्यूजीलैंड की पूर्व क्रिकेटर डेब्बी हॉकली और इंग्लैंड की चार्लोट एडवर्ड्स को पीछे छोड़ा था। मिताली के बाद झूलन गोस्वामी भारत के लिए सबसे ज्यादा विश्व कप खेलने वाली खिलाड़ी हैं। उन्होंने भी भारत के लिए पांच विश्व कप में भाग लिया है।

मिताली राज के आलावा सचिन तेंदुलकर भारत के लिए एकमात्र क्रिकेटर हैं जिन्होंने छह विश्व कप खेले हैं। सचिन भारत के लिए 1992 से लेकर 2011 तक भारत के लिए छह विश्व कप खेले और अपने आखिरी विश्व कप में जीत हासिल की। 39 साल की मिताली राज को महिला क्रिकेट का सचिन कहा जाता है।

Advertisements

ट्वीट के साथ एक चिट्ठी ने कर दिया उनके फैंस को भावुक

मिताली ने अपने भावुक संदेश में लिखा, मैंने एक छोटी सी लड़की के तौर पर ब्लू जर्सी में अपने सेवा देनी शुरू की थी| अपने देश के लिए खेलने से बड़ा सम्मान कुछ और नहीं हो सकता| मेरी यात्रा उतार चढ़ाव से भरी हुई रही और हर एक इवेंट ने मुझे कुछ नया और अलग सिखाया. पिछले 23 साल मेरे जीवन के सबसे सुखद, चुनौतीपूर्ण और मजेदार साल रहे|

उन्होंने आगे कहा, ‘मैंने जब भी मैदान पर कदम रखा, हमेशा अपना सबसे अच्छा प्रदर्शन करने की कोशिश की। मेरा इरादा हमेशा भारत को जीताने का रहा। मैं तिरंगे का प्रतिनिधित्व करने के लिए मिले हर मौके को अपने साथ संजोकर रखूंगी। मैं महसूस करती हूं कि मेरे करियर को समाप्त करने का यह सही समय है। भारतीय टीम योग्य और हुनरमंद युवा खिलाड़ियों के हाथों में है। भारतीय क्रिकेट का भविष्य सुनहरा है। मैं भारतीय महिला क्रिकेट टीम की खिलाड़ी और कप्तान के तौर पर बीसीसीआई और श्री जय शाह सर से मिले समर्थन के लिए उन्हें धन्यवाद देना चाहूंगी।

इतने सालों तक भारतीय टीम की कप्तानी करना मेरे लिए सम्मान की बात है। इसने मुझे एक बेहतर इंसान के रूप में ढाला है। मैं उम्मीद करती हूं कि इस दौरान भारतीय महिला क्रिकेट को भी एक बेहतर रूप मिला होगा। यह यात्रा यहां खत्म होती है लेकिन एक नई यात्रा शुरू होगी। मैं इस खेल में बने रहना चाहती हूं। मैं इस खेल से प्यार करती हूं। मुझे भारत और पूरी दुनिया में महिला क्रिकेट की बढ़ोत्तरी के लिए योगदान देने में खुशी होगी। मेरे सभी फैंस का बहुत धन्यवाद।’ आप सभी के प्यार और समर्थन के लिए धन्यवाद।’

tweets after Mithali Raj retirement…..

By Admin

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.