TATA IPL 2022

दिल्ली और राजस्थान के बीच आईपीएल 2022 के 34वें मैच में वानखेड़े स्टेडियम पर दूसरे पारी में एक बवाल हो गया। नोबॉल विवाद पर DC के कप्तान ऋषभ पंत, शार्दुल ठाकुर और प्रवीण आमरे के खिलाफ आईपीएल कमेटी ने एक बड़ी कार्यवाही की है। जिसके चलते पंत पर मैच का100 फीसद का जुर्माना, शार्दुल ठाकुर पर मैच का 50 फीसद जुर्माना लगाया गया। वहीं प्रवीण आमरे पर एक मैच का बैन लगा दिया है।

DC के हार के बाद ब्रॉडकास्टर से सही बताया अपना स्टैंड

DC के 15 रन से हार के बाद ब्रॉडकास्टर ने बात करते हुए ऋषभ ने यह कबूल किया कि उनकी नाराजगी सही है। ऋषभ ने कहा कि स्टेडियम में बैठे सभी लोगों ने देखा कि तीसरी गेंद नो बॉल थी। और अगर यह बॉल नो बॉल दी जाति तो मैच के परिणाम कुछ और हो सकते थे।

जब अंपायर ने 3rd बॉल पर 3र्ड अंपायर के पास रेफर करने को मना कर दिया, तब ऋषभ ने नाराज होकर और अपना आपा खोकर मैच खेल रहे क्रीज पर बल्लेबाजों को वापस आने का इशारा कर दिया था।

पंत बस इतना चाहते थे कि ओवर की 19.3 बॉल पर नोबॉल है या नहीं बस यहीं पर विवाद बढ़ा की अंपायर ने थर्ड अंपायर के पास रैफर नहीं किया।

Advertisements

मामला क्या था विवाद का

DC को आखिरी ओवर में 6 बॉल पर 6 छक्कों की जरूरत थी। RR की तरफ से मेकाय पारी का आखिरी ओवर फेंक रहे थे और स्ट्राइक पर रोवमैन पावेल बल्लेबाजी कर रहे थे। पावेल ने शुरुआत के 3 बॉल पर 3 छक्के लगाकर मैच को रोमांचकारी बना दिया। पर तभी DC के मैनेजमेंट को लगा कि तीसरा बॉल नो बॉल था जो कि ऑन फील्ड अंपायर ने नहीं दिया। अगर नियम के अनुसार देखें तो यह बॉल नो बॉल थी। अंपायर ने ऐसा नही किया और न ही मामलें को थर्ड अंपायर के पास भेजा।

अंपायर थर्ड अंपायर के पास क्यों नहीं गए

अभी तक मैच के नियम के अनुसार अंपायर द्वारा थर्ड अंपायर को हाइट वाली बॉल को रेफर करने का कोई नियम नहीं है। जिसके चलते ग्राउंड अंपायर ने तीसरे गेंद पर थर्ड अंपायर के पास बॉल को दुबारा चेक करने के लिए नहीं भेजा।

इस पर RCB की तरफ से खेल रहे और ऑस्ट्रेलिया के आल राउंडर मैक्सवेल ने एक ट्वीट किया है।

शेन वाटसन पंत के इस रवैये से नाराज हो गए और लाइव के समय ये देखा जा सकता है कि वाटसन ने पंत के नाराजगी को कैसे शांत किया। जिसके बाद मैच दोबारा शुरू हुआ।

By Admin

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.