Day: 28 October 2021

समाचार के स्त्रोत

समाचार के मुख्यतः दो तरह के स्त्रोत होते हैं, पहला प्रत्यक्ष और दूसरा अप्रत्क्षय। प्रत्यक्ष स्त्रोत वे स्त्रोत हैं, जिसमें मीडिया के कर्मचारियों को सूचना सीधे प्राप्त हो जाती है,…

ग्लोबल मीडिया के अंतर्गत वैश्विक सूचना प्रवाह का स्वरूप

वैश्विक स्तर पर मौजूद सूचना तंत्र ग्लोबल मीडिया कहलाता है। ज्यादातर लोगों को इन मुद्दों के बारे में अखबारों, पत्रिकाओं, रेडियो, टेलीविजन, और वर्ल्ड वाइड वेब की रोजमर्रा के समझ…

नियामक सिद्धान्त क्या है? इसके विभिन्न सिद्धान्तों का वर्णन

किसी देश व समाज के संचार माध्यमों को समझने के लिए उस देश व समाज की आर्थिक और राजनीतिक व्यवस्था, भौगोलिक परिस्थिति तथा जनसंख्या को जानना महत्वपूर्ण है क्योंकि इसके…

Jansanchar madhyamo ki janmat nirman me bhoomika

प्रत्येक समाज के सामाजिक जीवन में जनमत अर्थात जनता के मत का महत्वपूर्ण स्थान होता है। जब भी लोगों के ‘आचार’, ‘व्यवहार’, और रवैये में परिवर्तन की बात आती है…

वर्तमान संदर्भ में समाचार पत्रों एवं टेलीविज़न कार्यक्रमों की प्रस्तुति की समीक्षा

वर्तमान संदर्भ में समाचार पत्रों एवं टेलीविजन के कार्यक्रमों का स्वरूप बदल गया है आजादी से पहले पत्रकारिता एक मिशन हुआ करती थी परंतु वैश्वीकरण के बाद पत्रकारिता के क्षेत्र…

Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.