Day: 4 October 2021

स्वाभिमान और अभिमान के बीच का अंतर

स्वाभिमान से सीधा तात्पर्य गर्व से है, यह गर्व अपने जाती को लेकर, अपने राष्ट्र को लेकर, अपने गौरव, अपनी आत्मप्रतिष्ठा को लेकर, अपने कार्यो के अच्छे परिणामों को लेकर, आदि से संबंधित हो सकती हैं। यह अक्सर कहा जाता है कि हमें अपने स्वाभिमान पर गर्व करना चाहिए और उस स्वाभिमान को नहीं खोना …

स्वाभिमान और अभिमान के बीच का अंतर Read More »

Mahamrityunjaya Mantra: भगवान शंकर का अमोघ मंत्र

भगवान शंकर का अमोघ मंत्र है, “महामृत्युंजय मंत्र”,इसे सिद्ध कर लेने पर मनुष्य की अकाल मृत्यु नहीं होती है। यह मंत्र महान ऋषि मार्कण्डेय द्वारा रचा गया है। यह महामृत्युंजय मंत्र भगवान शंकर को मृत्युंजय के रूप में समर्पित ऋग्वेद ग्रंथ में है। स्वयं या परिवार में किसी अन्य व्यक्ति के अस्वस्थ होने पर या …

Mahamrityunjaya Mantra: भगवान शंकर का अमोघ मंत्र Read More »

Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.