CBSE का 2021-22 के बैच को लेकर बड़ा फैसला, यह फैसला कोविड-19 महामारी से पढ़ाई में हो रहे नुकसान को देखते हुए लिया गया है

CBSE बोर्ड EXAM 2022: कोरोना महामारी के विकराल रूप को देखते हुए और उसका कोई निदान न पाते हुए, इस संकट के तहत CBSE ने 2021-22 बीच के लिए बड़ा निर्णय लिया है। CBSE ने जो नए फैसले जारी किए हैं उसके मुताबिक स्पेशल स्किल के तहत शिक्षा सत्र 2022 में दो बार परीक्षा कराने का प्रावधान किया है, जिसका सिलेबस इसी महीने के आखिरी तारीख तक जारी कर दिया जाएगा।

दोनों सत्र में पाठ्यक्रम 50:50 के ratio में पूर्ण होगा

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने कहा है कि एकेडमिक सेशन 2021-22 दो टर्म में विभाजित होगा और प्रत्येक टर्म में करीब 50-50 फीसदी सिलेबस कवर किया जाएगा। सीबीएसई पहले टर्म की परीक्षाएं नवंबर-दिसंबर में आयोजित करेगा। जबकि दूसरे टर्म की परीक्षा मार्च-अप्रैल में कराया जाएगा।

बोर्ड ने यह भी कहा है कि शैक्षणिक सत्र 2021-22 के पाठ्यक्रम को विषय विशेषज्ञों द्वारा अवधारणाओं और विषयों के परस्पर संबंध को देखते हुए और एक व्यवस्थित दृष्टिकोण का पालन करते हुए दो समय अंतराल में विभाजित किया जाएगा।

मूल्यांकन प्रणाली को विश्वसनीय बनाने पर जोर

2022 की 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षाओं की योजना पर सीबीएसई ने कहा है कि आंतरिक मूल्यांकन और परियोजना कार्यों को और अधिक विश्वसनीय व वैध बनाने के प्रयास जारी रहेंगे। कोरोना संकट को देखते हुए CBSE ने ये फैसला लिया है। पीएम मोदी ने अप्रैल मे दसवीं और जून में 12वीं की cbse की परीक्षा कोरोना महामारी को देखते हुए रद्द कर दिया था।

By Admin

One thought on “साल में होंगे दो बार पेपर, जल्द होगा नया पाठ्यक्रम जारी: CBSE”