झारखंड 15 नवंबर, 2000 को संघ के 28वें राज्‍य के रूप में अस्तित्‍व में आया। यह आदिवासियों की गृहभूमि है, जिसका सपना वे सदियों से देख रहे थे। … झारखंड में मुख्‍य रूप से छोटा नागपुर पठार और संथाल परगना के वन क्षेत्र शामिल हैं। यहां की विशिष्‍ट सांस्‍कृतिक परंपराएं हैं।

झारखंड प्रदेश में आम, जामुन, पियार और कटहल जैसे चीरहरित वन, साल जैसे आर्द्र पर्णपाती वृक्ष पाए जाते हैं। छोटा नागपुर क्षेत्र में महुआ, जामुन, कुसुम, गुलड़, आसन, पियार, खैर, अमलतास, केन, अंजन, करज, बरगद, पीपल ओर सेमल के वृक्षों की बहुतायत है।

झारखण्ड को मुख्य रूप से खनीज सम्पदा से परिपूर्ण राज्य माना जाता हैं एवं यहाँ मुख्य रूप से पाए जाने वाले खनिजों में कोयला, हेमेटाइट (लौह अयस्क), मैग्नेटइट (लौह अयस्क) ,ताम्र अयस्क, चूना पत्थर, बाॅक्साइड, कायनाइट, चाइनाक्ले, ग्रेफाइड, क्वार्टज/सिलिका, अग्नि मिट्टी, अभ्रक है ।

देवघर वैधनाथ मंदिर, हुंडरू जलप्रपात, दलमा अभयारण्य, बेतला राष्ट्रीय उद्यान, श्री समेद शिखरजी जैन तीर्थस्थल (पारसनाथ), पतरातू डैम, पतरातू, गौतम धारा, जोन्हा, छिनमस्तिका मंदिर, रजरप्पा, पंचघाघ जलप्रपात, दशम जलप्रपात, हजारीबाग राष्ट्रीय अभयारण्य झारखंड के पर्यटन स्थल है।

  • झारखंड का क्षेत्रफल 79,714 वर्ग किलोमीटर है।
  • झारखंड की राजधानी रांची है।
  • झारखंड की मुख्य भाषा हिंदी है।
  • झारखंड के पड़ोसी राज्य बिहार, उड़ीसा ,छत्तीसगढ़, उत्तर प्रदेश, और पश्चिम बंगाल हैं।
  • झारखंड का सबसे बड़ा शहर जमशेदपुर है।
  • झारखंड का शाब्दिक अर्थ जंगल झाड़ी वाला क्षेत्र है।
  • झारखंड कुल 24 जिलों से मिलकर बना है।
  • कृषि और संबंधित गतिविधियां झारखंड की अर्थव्यवस्था का प्रमुख आधार है।
  • झारखंड में पूरे भारत का लगभग 40% खनिज पाया जाता है।

By Admin