शर्म

शर्म एक कष्टमय, सामाजिक भावना है जो आदर्श सामाजिक मानक के साथ स्वयं की स्थिति की तुलना के संदर्भ में उत्पन्न हो सकती है।

4 ways to overcome Shyness(शर्म) in Hindi

1. SELF IMAGE:- शर्म दूर करने के लिए सबसे जरूरी है कि आपके मन में जो आपकी image बन रखी है उसे change करिए। कुछ लोग PERFECT होने के बाद भी यह सोचते हैं कि हमारे अंदर कमियां हैं। जिसका नतीजा यह होता है कि, कोई कमी न होने पर भी , आप किसी से बात करते दौरान खुल के बात कर नहीं पाते हैं। ऐसे में सामने वाला समझ सकता है कि आप अपनी बातों को लेकर खुद ही कॉंफिडेंट नहीं हैं और वह आपके IMAGE के प्रति गलत धारणा बना सकता है।

2. आंखों में देखकर बात करना:- किसी से बात करते समय आपको शर्म आ रही है या आप उनसे बात करते हुए शर्माते हैं, तो आपको सामने वाले इंसान को यह समझ कर नहीं देखना चाहिए वह कितना परफेक्ट या कितना अच्छा है, बल्कि आप उससे जब भी बात करिए, तो भूल जाइए की वह कौन है, बस आंखों में देखकर बात करिए, ताकि सामने वाला यह समझ सके कि आप उनकी बातों को ध्यान से सुन रहे हैं या उनपर ध्यान दे रहे हैं। (आंखों में देखने का मतलब घूरना नहीं है)।

Shyness

3. PERSONALITY CHANGE करते रहना:- आपको अपनी पर्सनालिटी हमेशा up to डेट रखना चाहिए और जरूरत के हिसाब से उसमें change भी लाते रहना चाहिए। अगर आपकी पर्सनालिटी हमेशा एक जैसी रहेगी तो आपका दिमाग खुद से बोर होने लगेगा, जिससे आपको हमेशा लगेगा कि आप अच्छे नहीं दिख रहे हैं। जिससे किसी से संवाद क्रिया करते हुए आप हिचकिचाहट महसूस कर सकते हैं, जो आपके लिए बिल्कुल भी अच्छा नहीं होगा।

4. IMPROVE ENGLISH:- आज के इस युग में अंग्रेज़ी का बोलबाला है, बेशक भारत मे हिंदी बोलने वालों की संख्या ज्यादा है,पर लोग इंग्लिश को ज्यादा भाव देते हुए लगते हैं ऐसा में आपको अच्छा दिखने के लिए ENGLISH IMPROVE करनी होगी। इससे यह होगा, की जब आप किसी से बात कर रहे होंगे और उस बात में अंग्रेज़ी के शब्द जोड़ देंगे तो उस बात के महत्व में वृद्धि होने की संभावना बढ़ जाएगी । इससे आपका दिमाग और ACTIVE होकर आपको और अच्छे संवाद की ओर ले जाता है जिससे आपके BODY पार्ट्स भी आपके शब्दो के साथ मेल खाकर,आपके हाव भाव को प्रस्तुत करने का प्रयास करने लगते हैं।

Advertisements

By Admin

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.