परिचय

USA की पेपल कंपनी में कार्यरत चाड हर्ले, स्टीव चेन और जावेद करीम को जब जनवरी 2005 में एक वीडियो शेयरिंग साइट बनाने का विचार आया तो उन्होंने भी नहीं सोचा था कि यह साइट एक दिन दुनिया भर में महत्वपूर्ण बदलाव का औजार साबित होगी। 23 अप्रैल 2005 में जावेद करीम ने अपनी वीडियो स्ट्रीमिंग साइट पर me at the zoo शीर्षक बनाकर अपलोड किया।

इतिहास

कैलिफोर्निया के एक रेस्तरा से शुरू होने वाले इस वीडियो प्लेटफार्म की शुरुआती वित्तीय सहायता सिकोइया कैपिटल ने 3.5 मिलियन डॉलर का निवेश नवंबर 2005 में करके की। इसके बाद 8 मिलियन डॉलर का निवेश और सिकोइया कैपिटल की ओर से किया गया। दिसंबर, 2005 में औपचारिक रूप से यूट्यूब को लांच कर दिया गया। 2006 तक 15 मिलियन वीडियो प्रतिदिन देखे गए।

Advertisements

मई 2006 आते आते यूट्यूब में मोबाइल से वीडियो अपलोड करने की सुविधा प्रदान कर दी।इसके बाद यूट्यूब की उपयोगिता और लोकप्रियता सभी आयु वर्ग विशेषकर युवा वर्ग में फैलने लगी। जिसके चलते जुलाई 2006 तक 65 हजार वीडियो अपलोड होने लगे।

प्रसार और लोकप्रियता

इसी वर्ष यूट्यूब ने विज्ञापन मॉडल पार्टिसिपेटरी वीडियो ऐड (participatory vedio advt.) Launch किया । इससे यूट्यूब को व्यावसायिक विस्तार में सहायता मिली। 2006 में सोनी , वार्नर और यूनिवर्सल से डील कर यूट्यूब का कारवां आगे चल पड़ा। alexa ranking में यूट्यूब इस समय 5वी वेबसाइट के पायदान पर है। इस लोकप्रियता को देखते हुए टाइम मैगज़ीन ने इसे ‘पर्सन ऑफ द ईयर’ घोषित किया गया। इन्ही सब लोकप्रियता को देखते हुए गूगल ने यूट्यूब को अक्टूबर 2006 में 1.65 बिलियन डॉलर्स में खरीद लिया । अब यूट्यूब को गूगल जैसी कंपनी का साथ मिलने से 2008 में MGB, LIONS, GATE ENTERTAINMENT और CBS जैसी कंपनियों से फिल्मे और धारावाहिक यूटूब पर डालने के समझौते को हरी झंडी मिल गयी। इस वर्ष 13 घंटे के वीडियो प्रति मिनट UPLOAD किये जा रहे थे। 7 मई 2008 को यूट्यूब भारत में आया।

यूट्यूब की बढती उपयोगिता और लोकप्रियता के कारण ही प्रमुख राजनीतिक सामाजिक हस्तियां , फिल्मी कलाकार, और खिलाड़ी भी यूट्यूब चैनल बनाने लगे। जनवरी 2009 में, ओबामा और पॉप ने अपने यूट्यूब चैनल बनाए। इसी वर्ष अमेरिका में सम्पन्न u2 कंसल्ट की यूट्यूब पर सीधा प्रसारण किया गया। जो एक नए तरह का प्रयोग था।

आगे चलकर youtube live streaming काफ़ी लोकप्रिय हुई। जिसका जलवा आज भी बरकरार है। जनवरी 2010 तक यूट्यूब पर 24 घंटे के वीडियो को प्रतिघंटे अपलोड किये जाने लगे थे। मार्च 2010 में IPL की निशुल्क सीधा प्रसारण यूट्यूब पर हुआ । जिसके बाद भारत मे यूट्यूब काफी लोकप्रिय हुआ । 2010 में ही UK, USA AUR कनाडा में यूट्यूब पर रेंटल फिल्में शुरू की गयी। 2012 के आटे आते यूट्यूब पर लगभग 4 बिलियन वीडियो अपलोड कर दिए गए थे। इस समय 60 घंटे के वीडियो प्रति सेकंड अपलोड किए जा रहे थे। इसी वर्ष गंगनम डांस के वीडियो की दर्शक संख्या एक अरब पहुँची जो अपने आप में एक रेकॉर्ड था। इसी वर्ष अमेरिका राष्ट्रपति चुनाव में यूट्यूब पर राष्ट्रपति डिबेट का सीधा प्रसारण किया गया। 2014 के भारत के चुनाव में भी यह तरीका अपनाया गया जिससे कई नेताओं को चुनावी प्रसार प्रचार में काफी लाभ हुआ। इसके बाद हुआ विधानसभा और लोकसभा चुनावों में यूट्यूब एक प्रमुख चुनावी प्रचार का औजार बन गया है।

2013 तक यूट्यूब पर ट्रेडिशनल मीडिया कंटेंट ही डाला जाता था। 2014 में दिल्ली जैसे शहरों में वीडियो अपलोड किए जाने लगे । इसी के साथ नार्थ ईस्ट , पंजाब , उत्तर प्रदेश के दूर दराजों क्षेत्रो और कस्बो में भी, कंटेंट यूट्यूब चैनल बनाकर डाला जाने लगा। हर दस में से 7 यूजर अब मोबाइल पर वीडियो देखने लगा जिससे यूट्यूब का मोबाइल ट्रैफिक 50 फीसदी से अधिक हो गया। इसके बाद यूट्यूब का मंच कभी भी आज तक पीछे नहीं गया , इसमें दिन प्रतिदिन विकास होता गया।

यूट्यूब आज एक ऐसा प्लेटफार्म बन चुका है जो किसी भी प्रतिभाशाली और रचनात्मक व्यक्ति को स्टार बना सकता है।( उदाहरण बाबा का ढाबा) इसके लिए वीडियो बनाते हुए किसी भी भाषा का प्रयोग किया जा सकता है. जैसे स्थानीय बोली का प्रयोग कर वीडियो बनाना।

● यूट्यूब की लोकप्रियता का एक बड़ा कारण इसका कम खर्चीला , प्रासंगिक, और नवीनतम जानकारी से सम्पन्न होना है।

● वैसे तो यूट्यूब क् यूजर सभी आयु वर्ग का हो सकता है लेकिन युवा वर्ग बड़ी संख्या में इसके उपभोक्ता और सामग्री प्रदाता हैं।

● जानकारी, सुचना और मनोरंजन का माध्यम।

● प्रतिभा, प्रदर्शन , जागरूकता और सामाजिक राजनीतिक परिवर्तन का औजार।

रेयान काजी के एक उदाहरण से यूटूब की उपयोगिता , महत्व और लोकप्रियता का अंदाजा लगाया जा सकता है। आठ साल का रेयान बच्चो के खिलौनें का रिव्यु करता है। रियान के यूट्यूब चैनल पर लगभग 24 मिलियन सब्सक्राइबर हैं।

फेक न्यूज़ पर नकेल कसने के लिए महत्वपूर्ण कदम।

किसी के कंटेंट को चोरी से बचाने के लिए 2019 में प्राइवेसी पालिसी को बदलना।

यूट्यूब पर कंटेंट बनाने के लिए youtube creator academy को बनाना।

By Admin

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.