दोस्तों संगीत और संगीत की दुनिया अपने में एक ऐसा संबंध बांध कर चलती है जिसको सुनने वाला व्यक्ति, ऐसे भावों में खो जाता है जहाँ उसे कभी खुशी की तो कभी दुख की अनुभूति होती रहती है। यानी एक ऐसा संगम जहाँ हम अपने मे ढल जाए, अपने को उससे जोड़ने लगें ऐसी दुनिया……

इसको ध्यान में रखते हुए आनंद तिवारी ने एक ऐसे सीरीज को उतारा है जो आपको संगीत से होने वाली खुशियों और परिश्रम से लेकर दुख और सम्मान के योग्य बनाती हैं।

हेलो दोस्तों, स्वागत है आपका हमारे यूट्यूब चैनल review tv पर…….

दोस्तों आज हम जिस सीरीज की बात करने जा रहे है वो 4 अगस्त को अमेज़न प्राइम पर release हो चुकी है और जिसका नाम बंदिश बन्दीट्स है, यह इस सीरीज का पहला session है जिसमे 10 एपिसोड्स हैं और जिसे देखने मे कम से कम 7 घंटे देने होंगे।अमेज़ॉन प्राइम वीडियो ने इसे 16 वर्ष से ऊपर वाले लोगों को देखने की सलाह दी है।

Advertisements

अब इस फ़िल्म के मुख्य किरदारों की बात करे तो नसीरुद्दीन शाह ने पंडितजी का किरदार, श्रेया चौधरी ने तमन्ना का किरदार, ऋत्विक भौमिक ने राधे का किरदार निभाया है वहीं सहायक एक्टर के रूप में अतुल कुलकर्णी, अमित मिस्ट्री, शीबा चड्ढा, राजेश तैलंग और कुणाल रॉय कपूर ने अपना किरदार निभाया है।

तो दोस्तों कहानी है राजस्थान की,जहाँ पंडित जी यानी, नसीरुद्दीन शाह पिछले 25 वर्षों से संगीत सम्राट का तबका हासिल कर राठौर बिरादरी का नाम रोशन कर रहे हैं और संगीत को सरस्वती मानते हैं । जिसके कारण संगीत का प्रयोग केवल राठौर परिवार के लिए ही किया जाना आदेश है।इसी को आधार बना कर पंडित जी राधे, यानी अपने पोते ऋत्विक को संगीत की शिक्षा देना प्रारंभ करते हैं।

पंडित जी अपने पोते को संगीत की पूरी तालीम देदेना चाहते हैं क्योंकि उनके दोनों बेटे राजेन्द्र और देवेंद्र संगीत के कानूनों को तोड़ चुके हैं।इसी के साथ धीरे धीरे कहानी आगे बढ़ती है और राधे भी प्यार के चक्कर मे पढ़ जाता है और परिवार पर चढ़े लोन को उतारने के लिए राठौर परिवार से बाहर निकल कर गाना गाने लगता है…..

अब आगे क्या…..क्या पंडित जी राधे को संगीत की पूरी तालीम देंगे।……क्या तमन्ना भी राधे से प्यार करने लगेगी…..। ।। क्या राधे राठौर बिरादरी को अपनी मजबूरी बता पाएगा… दोस्तों इन सब प्रश्न के उत्तर को जानने के लिए देखनी होगी बंदिश बन्दीट्स वेब सीरीज….

तो दोस्तो अगर इस वेब सीरीज की अच्छाइयों की बात करे तो संगीत का मेल फ़िल्म से पूरी तरह खाता है या फिर पूरी मूवी ही संगीत मय हैं कहें तो गलत नहीं है वहीं बुराई की बात करें तो एपिसोड कम हो सकते थे पर ओवरआल संगीत प्रेमियों के लिए एक अच्छी सीरीज है।

दोस्तों मैं इस सीरीज को 5 स्टार में 3 स्टार दुंगा लेकिन आप इस सीरीज और हमारे रिव्यु को कितने स्टार देंगे,,, कमेंट करके जरूर बताइए,, और दोस्तों अगर आपने हमारे चैनल को लाइक subscribe और शेयर नही किया हो तो तुरंत कर दीजिए,,,,,, तो चलिए मिलते हैं आपसे अगले वीडियो में, तब तक धन्यवाद जय हिंद………………..

By Admin

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.